वृन्दावन के दर्शनीय स्थल Places to Visit in Vrindavan

Table of Contents

श्रीधाम वृन्दावन के दर्शनीय स्थल (Places to Visit in Vrindavan): उत्तर प्रदेश राज्य के मथुरा जिले में स्थित श्रीधाम वृन्दावन भगवान श्रीकृष्ण एवं श्रीराधा की लीलाओं से जुड़ा हुआ एक पावन तीर्थ स्थल है। वृंदा तुलसी को भी कहा जाता है। इसलिए यह तुलसी का भी वन है। श्रीधाम वृन्दावन 84 कोष में फैले ब्रज मंडल का हृदय कहा जाता है। सम्पूर्ण ब्रजमंडल श्री राधा-कृष्ण की लीलाओं से जुड़ा हुआ है जहाँ आज भी श्री राधा-कृष्ण की उपस्थिति की अनुभूति की जा सकती है। Places to Visit in Vrindavan

वृन्दावन तीन तरफ से श्री यमुना जी से घिरा हुआ है। यह एक खूबसूरत दर्शनीय तीर्थ स्थल है। जो एक बार वृन्दावन चला जाता है उसका ह्रदय वृन्दावन का होकर रह जाता है। वह दोबारा वृन्दावन जाये बिना नहीं रह सकता है। यहाँ पग पग पर श्री राधा-कृष्ण की लीलाओं का दर्शन है। पुराणों में वृन्दावन को भगवान् का साक्षात् शरीर कहा गया है।

Vrindavan Dham के कण कण में श्री राधा-कृष्णा की रसमय अनुभूति है। वृन्दावन की पावन धरा पर पाँव पड़ते ही व्यक्ति के पापों का नाश हो जाता है ऐसी महिमा है श्री बांके बिहारी जी की। वृन्दावन साक्षात् श्री राधा-कृष्ण है।

यदि आप भी प्रभु की इस लीलास्थली के दर्शन करना चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि

  1. how to reach Vrindavan?,
  2. best place to visit in Vrindavan,
  3. famous temples in Vrindavan,
  4. famous tourist attractions in vrindavan,
  5. Vrindavan tourist place,
  6. vrindavan temples,
  7. Vrindavan me ghumne ki jagah,
  8. vrindavan mandir,
  9. Visit Vrindavan Temple,
  10. famous temple in vrindavan,
  11. tourist places in mathura vrindavan,
  12. tourist places in vrindavan up,
  13. vrindavan tourist spot,
  14. vrindavan tourist point,
  15. mathura vrindavan tourist places list,
  16. vrindavan most popular tourist places,
  17. vrindavan tourist places visit,
  18. where to visit in vrindavan,
  19. vrindavan tourist attraction places,
  20. vrindavan dham tourist places in hindi

आदि तो इस लेख को पूरा पढ़ें क्योंकि आपके इन सभी प्रश्नों के जवाब आपको इस लेख में मिलेंगे।

VRINDAVAN GENERAL INFORMATION   

Name: Vrindavan
Popularly known as Mathura Vrindavan
District: Mathura
Country: India
Nearby Airport Agra Airport & Delhi Airport
Distance from Agra Airport to Vrindavan: Approx. 78 Km
Distance from Delhi Airport to Vrindavan: Approx. 170 KM
Nearby Railway Station: Mathura Junction & Mathura Cantt Railway Station
Distance from Mathura Junction to Vrindavan: Approx. 16 Km.
Nearest Bus Stand: Mathura Bus Stand
Mathura Bus Stand to Vrindavan Distance: 12 Km.
Places to visit nearest Vrindavan: Mathura, Goverdhan, Barsana, Nandgaon, Gokul, Agra, Kokilavan, Fatehpur Sikri etc.

MAJOR TOURIST ATTRACTIONS IN VRINDAVAN

इस लेख में आपको वृन्दावन के इन मुख्य दर्शनीय स्थलों की जानकारी मिलेगी:

  • Shri Bankey Bihari Temple Vrindavan
  • Prem Mandir Vrindavan
  • Iskcon Temple Vrindavan
  • Priyakantju Temple Vrindavan
  • Mata Vaishno Devi Dham Temple Vrindavan
  • Nidhivan Vrindavan
  • Shahji Temple Vrindavan
  • Akshay Patra Temple Vrindavan
  • Madan Mohan Temple Vrindavan
  • Pagal Baba Temple Vrindavan
  • Rangnatha / Rangji Temple Vrindavan
  • Gopeshwar Mahadev Temple Vrindavan
  • Chandrodaya Mandir Vrindavan

श्री बांके बिहारी मंदिर वृन्दावन (SHRI BANKEY BIHARI MANDIR VRINDAVAN):

वृन्दावन का नाम जुबान पर आते ही  श्री बांके बिहारी जी की छवि मन-मस्तिष्क में बस जाती है। श्रीधाम वृन्दावन में रमणरेती स्थित श्री बांके बिहारी जी मंदिर भगवान श्रीकृष्ण का श्री बांके बिहारी स्वरुप है। यह एक प्रसिद्द एवं प्राचीन मंदिर है। भगवान बांके बिहारी जी के दर्शनों के लिए प्रतिदिन हजारों की संख्या में भक्त पहुँचते हैं। भगवान श्रीकृष्ण को श्री वृन्दावन धाम में श्री ठाकुर जी के नाम से भी जाना जाता है। इस प्राचीन मंदिर का इतिहास श्री हरिदास जी से जुड़ा हुआ है। श्री हरिदास जी की भक्ति सेवा से प्रसन्न होकर ही भगवान श्रीकृष्ण बांके बिहारी स्वरुप में प्रकट हुए थे। यदि आप वृन्दावन जाएं तो श्री बांके बिहारी जी मंदिर में पहुंचकर श्री बिहारी जी के दर्शन अवश्य करें।

प्रेम मंदिर वृन्दावन  (PREM MANDIR VRINDAVAN):

वृंदावन स्थित प्रेम मंदिर शिल्पकला का एक बेजोड़ नमूना है। इसका निर्माण जगद्गुरु कृपालु जी महाराज द्वारा करवाया गया है। संगमरमर पर की गयी नक्काशियों की खूबसूरती इसे इतना खूबसूरत बनाती है जिसके कारन वृन्दावन जाने वाले श्रद्धालु प्रेम मंदिर के दर्शन करने के लिए अवश्य जाते हैं। संगमरमर पर मूर्तियों की नक्काशियां इतनी बारीकी से की गयी हैं कि आप इसे निहारते ही रहते हैं। प्रेम मंदिर में श्री राधा-कृष्ण के मनमोहक दर्शन होते हैं। यहाँ पर भगवान श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं को सुन्दर झांकियों के माध्यम से दिखाया गया यही। वृन्दावन जाएं तो प्रेम मंदिर अवश्य जाएं। Famous Places to Visit in Vrindavan  

इस्कॉन मंदिर वृन्दावन (SRI KRISHNA BALARAM MANDIR VRINDAVAN):

इस्कॉन मंदिर वृन्दावन का नाम श्री कृष्ण-बलराम मंदिर  है। यहाँ भगवान कृष्ण एवं बलराम जी के मनमोहक दर्शन होते हैं। इस मंदिर का निर्माण ISKCON (International Society for Krishna Consciousness) द्वारा किया गया है। यहाँ  हरे रामा – हरे कृष्णा महामंत्र की पावन गूँज आपको अंदर से एक शांतिमय अनुभूति प्रदान करती हैं। यहाँ श्रीकृष्ण महामंत्र पर सभी देशी-तथा विदेशी श्रद्धालु झूमते नजर आते हैं। वृन्दावन दर्शन में कृष्णा बलराम मंदिर के दर्शन अवश्य करें।

VRINDAVAN TOURIST PLACES

प्रियाकांत जू मंदिर वृन्दावन (PRIYAKANT JU MANDIR VRINDAVAN)

वृन्दावन छटीकरा-वृन्दावन मार्ग पर स्थित प्रियाकांत जू मंदिर में श्री राधा-कृष्ण की खूबसूरत छठा के दर्शन होते हैं। प्रियाकांत जू मंदिर की आकृति कमल पुष्प के आकार की है। इसका निर्माण श्री देवकीनंदन ठाकुर जी द्वारा विश्व शांति चेरिटेबल ट्रस्ट के तत्वाधान में किया गया है। इसके कारन इसकी छवि मनमोहक प्रतीत होती है। वृन्दावन जाने पर भगवान प्रियाकांत जू के दर्शन अवश्य करें।

माता वैष्णो देवी धाम वृन्दावन (SHRI MATA VAISHNO DEVI DHAM VRINDAVAN):

छटीकरा, वृन्दावन में स्थित यह धाम माँ दुर्गा को समर्पित है। यहाँ पर माँ दुर्गा की भव्य विशाल मूर्ति सबके आकर्षण का केंद्र है। हर महीने हजारों-लाखों की संख्यां में श्रद्धालु माता वैष्णो देवी धाम वृन्दावन के दर्शन करने के लिए आते हैं। इसलिए आप भी जब वृन्दावन जाएं तो माता वैष्णो देवी धाम वृन्दावन अवश्य जाएं।  

निधिवन (NIDHIVAN VRINDAVAN):

वृन्दावन में यमुना किनारे स्थित निधिवन राधा-कृष्ण की लीलाओं का आज भी साक्षी है। निधिवन के बारे में मान्यता है कि आज भी हर रात भगवान् श्रीकृष्ण एवं श्रीराधा यहाँ पर आकर महारास रचाते हैं। यह एक सुन्दर उपवन है जहाँ पर तुलसी के बड़े-बड़े पेड़ ऐसे प्रतीत होते हैं जैसे एक दुसरे से हाथ पकडे खड़े हों। जब भी आप वृन्दावन जाएं तो निधिवन अवश्य जाएं।

शाहजी मंदिर वृन्दावन (SHAHJI MANDIR VRINDAVAN)

वृन्दावन स्थित शाहजी मंदिर चित्रकला तथा मूर्तिकला का बहुत खूबसूरत संगम है। सफ़ेद संगमरमर के पत्थर से निर्मित यह भव्य मंदिर अपनी मूर्तिकला के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ पर आपको श्री राधा-कृष्ण के खूबसूरत दर्शन होते हैं। इसलिए आप भी जब वृन्दावन जाएं तो शाहजी मंदिर वृन्दावन अवश्य जाएं। 

अक्षय पात्रा वृन्दावन (AKSHAY PATRA VRINDAVAN)

यह मंदिर भगवान राधा-कृष्ण को समर्पित है। इसका निर्माण ISKCON Bangalore द्वारा किया गया है। यहाँ पर एक विशाल रसोई है जिसमे खाना बनाने के बड़े-बड़े बर्तन हैं। जिसमे आस पास के स्कूलों में पढ़ने वाले हजारों गरीब बच्चों के लिए मध्याह्न भोजन बनाया जाता है। इसका नाम अक्षय अर्थात कभी न ख़त्म होने वाला और पात्रा अर्थात बर्तन। इस तरह अक्षय पात्रा का अर्थ कभी खाली न होने वाला बर्तन है। इसलिए आप भी जब वृन्दावन जाएं तो अक्षय पात्रा मंदिर वृन्दावन अवश्य जाएं।

best-places-to-visit-in-vrindavan

What are the Places to Visit in Vrindavan?

राधा दामोदर मंदिर वृंदावन (RADHA DAMODAR MANDIR VRINDAVAN):

श्री राधा दामोदर मंदिर वृन्दावन में स्थित एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर श्री राधा-कृष्ण को समर्पित है। यहाँ एक गिरिराज शिला है। मान्यता है कि इस शिला पर स्वयं भगवान् श्रीकृष्ण ने अपने चरण चिन्ह अंकित किये थे तथा जो इस गिरिराज शिला की परिक्रमा करता है उसे गोवेर्धन पर्वत की परिक्रमा का पुण्य फल प्राप्त होता है। वृन्दावन दर्शन में श्री राधा दामोदर मंदिर के दर्शन अवश्य करें।

मदन मोहन मंदिर वृन्दावन (MADAN MOHAN MANDIR, VRINDAVAN):

वृन्दावन की हर गली, हर कुञ्ज, हर मंदिर श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं के साक्षी हैं। यह मंदिर चटोरे मदन मोहन मंदिर के नाम से जाना जाता है। यह एक प्राचीन भव्य मंदिर है जो श्री राधा-कृष्ण को समर्पित है। इसलिए आप भी जब वृन्दावन जाएं तो मदन मोहन मंदिर वृन्दावन अवश्य जाएं।

पागल बाबा मंदिर वृन्दावन (PAGAL BABA MANDIR, VRINDAVAN):

पागल बाबा मंदिर वृन्दावन का बहुत प्रसिद्द मंदिर है। यह एक भव्य मंदिर है।  इस मंदिर के विषय में मान्यता है कि यहाँ से कोई भी भक्त खाली हाथ नहीं लौटता है। भगवान अपने हर भक्त की इच्छा पूरी करते हैं। हजारों-लाखों की संख्या में भक्त यहाँ दर्शन के लिए पहुँचते हैं। इसलिए आप भी जब वृन्दावन जाएं तो पागल बाबा मंदिर वृन्दावन अवश्य जाएं।

रंगनाथ या रंगजी मंदिर वृन्दावन (RANGNATHA / RANGJI MANDIR, VRINDAVAN)

रंगजी मंदिर दक्षिण भारतीय द्रविड़ वास्तुशिल्प  शैली में बना एक खूबसूरत प्राचीन मंदिर है। यह अपनी भव्यता के लिए प्रसिद्द है। यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित हैं। श्रद्धालु बड़े भाव से यहाँ दर्शन के लिए आते हैं। इसलिए आप भी जब वृन्दावन जाएं तो रंगनाथ मंदिर वृन्दावन अवश्य जाएं।

PLACES TO VISIT IN VRINDAVAN IN HINDI

गोपेश्वर महादेव मंदिर वृन्दावन (GOPESHWAR MAHADEV MANDIR, VRINDAVAN):

वंशीवट, वृन्दावन में स्थित यह भगवान भोलेनाथ का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यहाँ भगवान भोलेनाथ साक्षात् गोपेश्वर महादेव के रूप में विराजते हैं। गोपेश्वर महादेव का भगवान श्रीकृष्ण से बहुत गहरा सम्बन्ध है। पुराणों के अनुसार जब भगवान श्रीकृष्ण वृन्दावन में महारास की लीला कर रहे थे तो भगवान् भोलेनाथ की भी वहां जाने की इच्छा हुई। लेकिन महारास में पुरुषों का प्रवेश वर्जित होने के कारण भगवान भोलेनाथ महिला के श्रृंगार में गोपी रूप धारण करके गए। वृन्दावन में आज भी महारास होता है एवं गोपेश्वर महादेव आज भी महारास के साक्षी बनते हैं।  

वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर (VRINDAVAN CHANDRODAYA MANDIR):

चंद्रोदय मंदिर वृन्दावन अभी निर्माणाधीन है। श्री वृन्दावन धाम स्थित चंद्रोदय मंदिर वृन्दावन का निर्माण ISKCON, Bangalore द्वारा करवाया जा रहा है। भगवान श्रीकृष्ण को समर्पित यह एक भव्य एवं विश्व का सबसे ऊँचा मंदिर होगा। मंदिर होगा जिसकी ऊंचाई लगभग 700 फ़ीट होगी। जिसकी ऊंचाई लगभग 70 मंज़िला इमारत जितनी होगी।

वृन्दावन में मनाये जाने वाले प्रमुख त्यौहार Major festivals celebrated in Vrindavan:

वैसे तो श्रीधाम वृन्दावन में हर दिन एक उत्सव है क्योंकिं यहाँ का हर दिन श्रीकृष्ण एवं श्री राधा की किसी न की किसी लीला का साक्षी है। इसलिए यहाँ हर दिन राधा-कृष्णमय होता है। भक्त हर दिन यहाँ उत्सव के दर्शन करते हैं। धन्य है वो पावन वृन्दावन की भूमि जहाँ कण कण में आज भी श्री राधा-कृष्ण की अविस्मरणीय अनुभूति है।

वृन्दावन में सभी त्यौहार बड़े धूमधाम से मनाये जाते हैं। जैसे  जन्माष्टमी (Janmashtami), अक्षय तृतीया (Akshay Tritiya), गोवेर्धन पूजा (Goverdhan Pooja), रथ यात्रा (Rath Yatra), राधा अष्टमी (Radh Ashtami), ब्रज की होली (Braj Ki Holi/Holi Vrindavan), कृष्ण जन्मोत्सव (Krishna Janam Utsav), हरयाली तीज (Haryali Teej) आदि त्यौहार बड़े ही हर्ष उल्लास से मनाये जाते हैं। भक्त बड़ी संख्या में पहुंचकर इन त्योहारों में सम्मिलित होकर पुण्य के भागी बनते हैं।

Vrindavan ki Mahima, Vrindavan Kaise Jaye, Vrindavan me ghoomne ki jagah kon si hai, Vrindavan ke mandir

वृंदावन कैसे पहुंचे? How to reach Vrindavan?

वृन्दावन जाने के लिए आपको सीधे यातायात की सुविधा कम मिलती है। इसके लिए आपको पहले मथुरा पहुंचना होता है। मथुरा सभी बड़े शहरों से सड़क मार्ग एवं रेलमार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है। मथुरा आप निम्न मार्गों से पहुँच सकते हैं:

रेल मार्ग द्वारा (How to reach Vrindavan by Rail?):

यदि आप रेल मार्ग द्वारा वृन्दावन जाने का मन बना रहे हैं तो आपको यह जानना आवश्यक है कि वृन्दावन में Railway Station नहीं है। वृन्दावन का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन Mathura Junction तथा Mathura Cantt स्टेशन हैं। जो वृन्दावन से लगभग 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। मथुरा सभी प्रमुख शहरों से रेल मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है। आप Mathura पहुंचकर वहां से टैक्सी या ऑटो से 25-30 मिनट में वृन्दावन पहुँच जाएंगे। दिल्ली से मथुरा के लिए नियमित अंतराल पर रेल सेवा उपलब्ध है। 

हवाई जहाज द्वारा (How to reach Vrindavan by Air):

वृन्दावन का सबसे नजदीकी एयरपोर्ट, पंडित दीन दयाल उपाध्याय एयरपोर्ट (Agra Airport) जो वृन्दावन से लगभग 78 किलोमीटर दूर स्थित है। आगरा से वृन्दावन के लिए टैक्सी तथा बस सुविधाएं नियमित अंतराल पर उपलब्ध हैं। वृन्दावन से दूसरा सबसे नजदीकी एयरपोर्ट Indira Gandhi International Airport, New Delhi (Delhi Airport) है। जो वृन्दावन से लगभग 168 किलोमीटर दूर स्थित है। दिल्ली से मथुरा जाने के लिए नियमित अंतराल पर बस, टैक्सी तथा रेल सेवा उपलब्ध है।

बस द्वारा (How to reach Vrindavan by Bus):

यदि आप बस के माध्यम से वृन्दावन जाने का मन बना रहे हैं तो मथुरा के लिए Delhi, Noida, Greater Noida,  Agra, Bharatpur आदि आस पास के सभी प्रमुख शहरों से बस सेवा उपलब्ध है। 

वृन्दावन में कहाँ रुकें? (Where to stay in Vrindavan?)

श्रीधाम वृन्दावन में यात्रियों के रुकने के लिए पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध हैं। वृन्दावन में आपके बजट के हिसाब से हर प्रकार के Budget Hotel भी उपलब्ध हैं। जो यात्री Dharamshala में रुकना चाहते हैं, उनके लिए वृन्दावन में अच्छी धर्मशालाएं उपलब्ध हैं। यहाँ यात्रियों के लिए पर्याप्त सुविधायें हैं। sqa

वृन्दावन घूमने के लिए कितने दिन चाहिये? (How many days are sufficient to visit Vrindavan?)

वृन्दावन घूमने के लिए आपके पास कम से कम 2-3 दिन का समय होना चाहिए। आप अपने परिवार जनों, मित्रों एवं सगे-सम्बन्धियों के साथ वृन्दावन घूमने जाएं तो यहाँ पर 2-3 दिन अवश्य बिताएं। तभी आप वृन्दावन के रस का आनंद ले पाएंगे। 

दोस्तों उम्मीद है कि इस लेख “वृन्दावन के दर्शनीय स्थल (Places to Visit in Vrindavan) के माध्यम से आपको श्री राधा-कृष्ण के पावन धाम वृन्दावन के दर्शनीय स्थलों के विषय (Tourist Places in Vrindavan) में पूरी जानकारी प्राप्त हुई होगी। यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अन्य व्यक्तियों तक भी शेयर कीजिये। इस लेख को पढ़ने के लिए आपका ह्रदय से आभार। 

 

यह भी पढ़ें:

मसूरी में घूमने की जगह Places to Visit in Mussoorie

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *