डी.एल.एड. क्या है? डी.एल.एड. में अपना भविष्य कैसे बनाएं ?

D.El.Ed Kya Hai डी.एल.एड. क्या है ?: यदि आप शिक्षक बनने की चाह रखते हैं (Want to become a Teacher) तो आपके लिए डी.एल.एड. एक अच्छा विकल्प है। डी.एल.एड. करने के पश्चात् आप शिक्षक (Teacher)  के रूप में आने वाली पीढ़ी को समाज के बेहतर भविष्य के लिए तैयार करते हैं। शिक्षक के कन्धों पर समाज का भविष्य बनाने की जम्मेदारी होती है। इसलिए बहुत से विद्यार्थी शिक्षक के रूप में समाज में अपनी सेवाएं देना चाहते हैं।  ऐसे में यदि आप डी.एल.एड. करते हैं तो आप अपने शिक्षक बनने के सपने को पूरा कर सकते हैं।

डी.एल.एड की पूरी जानकारी हिंदी में 

D.El.Ed. INFORMATION IN HINDI

डी.एल.एड. क्या है ? (What is D.El.Ed.?)

शिक्षक भविष्य का निर्माणकर्ता है। वह उन बच्चों को कल के लिए तैयार करता है जिन्हें आज यह आभास भी नहीं होता है की उन्हें जिंदगी में क्या करना है  तथा कैसे आगे बढ़ना है। विद्यार्थियों को पढ़ाना कोई आसान काम नहीं है। बड़े बच्चों को पढ़ना छोटे बच्चों की अपेक्षा थोड़ा आसान है। क्योंकि बड़ा बच्चा यह समझ सकता है की आप उन्हें क्या समझा रहे हैं। किन्तु प्राइमरी स्कूल के बच्चों को पढ़ाने के लिए आपके पास विशेष योग्यता की आवश्यकता होती है। उसी योग्यता के लिए आपके पास अवसर होता है डी.एल.एड. कोर्स करने का।

डी.एल.एड. का पूरा नाम Diploma in Elementary Education है। पहले यह कोर्स B.T.C. के नाम से जाना जाता था। B.T.C. का नाम ही बदलकर अब D.El.Ed. किया गया है। यह २ वर्ष का  एक  Diploma Course है। डी.एल.एड. कोर्स में आपको यही सिखाया जाता है कि बच्चों को कैसे पढ़ाया जाता है। बच्चों को पढ़ाने का तरीका क्या है आदि। इसमें आपको बच्चों को पढ़ाने की पूरी ट्रेनिंग दी जाती है। इस कोर्स को करने के बाद आप प्राइमरी स्कूल में अध्यापक बन सकते हैं।

डी.एल.एड. कोर्स का पूरा नाम क्या है? (Full form of D.El.Ed.):

डी.एल.एड. का पूरा नाम Diploma in Elementary Education है।

डी.एल.एड. कितने साल का कोर्स है ?

डी.एल.एड. कोर्स दो साल का कोर्स है। इसमें 4 सेमेस्टर होते हैं। एक सेमेस्टर 6 महीने का होता है।

डी.एल.एड के लिए शैक्षिक योग्यता क्या है? (Educational qualification for D.El.Ed.):

डी.एल.एड. करने के लिए आपको सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त किसी बोर्ड से 50 प्रतिशत अंकों के साथ 12th उत्तीर्ण होना आवश्यक है। डी.एल.एड में प्रवेश के लिए आपकी उम्र न्यूनतम 18 वर्ष तथा अधिकतम 35 वर्ष होनी चाहिए। उम्र विभिन्न राज्यों के नियमानुसार अलग अलग हो सकती है। नियमों की पूरी जानकारी के लिए सम्बंधित राज्य की की D.El.Ed. प्रवेश नियमावली को ध्यान से पढ़ें। प्रवेश के नियम विभिन्न राज्यों में भिन्न भिन्न हो सकते हैं। 

D.El.Ed. Course Details in Hindi

what-is-d-el-ed-hindi
D.El.Ed kya hai D.El.Ed. kaise kare

डी.एल.एड में एडमिशन कैसे होता है? (How to get admission in D.El.Ed.?)

अधिकांश कॉलेज में प्रवेश परीक्षा (D.El.Ed. Entrance Exam) के माध्यम से प्रवेश लिया जाता है । कुछ कॉलेज में 12th की मेरिट के आधार पर भी प्रवेश लिया जाता है। जो भी विद्यार्थी डी.एल.एड करना चाहते हैं उनको डी.एल.एड. प्रवेश के फार्म भरने होते हैं। उसके बाद उनके 12th के आधार पर मेरिट लिस्ट (Merit List) निकाली जाती है। मेरिट लिस्ट के आधार पर सभी विद्यार्थियों की काउन्सलिंग (Counselling) होती है तथा उन्हें कॉलेज अलॉट किया जाता है।

डी.एल.एड. कोर्स की फीस कितनी है? (What is the course fees of D.El.Ed.?)

यदि आप सरकारी कॉलेज से डी.एल.एड. करते हैं तो उसकी फीस कम होती है। प्राइवेट या सेल्फ फाइनेंस कॉलेज से डी.एल.एड. करने के लिए आपको लगभग 40-45 हजार रूपये प्रतिवर्ष फीस का भुगतान करना होता है। फीस अलग अलग कॉलेज और राज्यों के हिसाब से अलग अलग हो सकती है।

डी.एल.एड. के बाद क्या करें? (Career after D.El.Ed.)

डी.एल.एड. के बाद सरकार द्वारा आयजित की जाने वाली अध्यापक पात्रता परीक्षा TET (Teacher Eligibility Test) / CTET (Central Teacher Eligibility Test) पास करनी आवश्यक है। उसके जब भी सरकार द्वारा सरकारी स्कूल में अध्यापकों की भर्ती निकाली जाएगी तो आप उसमे आवेदन के पात्र होंगे। सरकार द्वारा जारी प्रवेश से सम्बंधित नियमों, काउंसलिंग तथा दिशानिर्देशों के अनुसार आप सरकारी अध्यापक बन सकते हैं। डी.एल.एड. के बाद प्राइवेट स्कूल में भी आप अध्यापक बन सकते हैं। वर्तमान में सभी स्कूल डी.एल.एड. पास अभ्यर्थियों को ही प्राइमरी स्कूल में पढ़ाने के लिए वरीयता देते हैं।

  • TET (Teacher Eligibility Test) : इस परीक्षा का आयोजन हर राज्य अपने यहाँ शिक्षकों की भर्ती के लिए करवाता है। इसे पास करने के बाद आप अपने राज्य में सरकारी शिक्षक बनने के पात्र हो जाते हैं। 
  • CTET (Central Teacher Eligibility Test) : इस परीक्षा का आयोजन केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा करवाया जाता है। इसे पास करने के पश्चात आप केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय, आर्मी पब्लिक स्कूल तथा विभिन्न राज्यों में भी अध्यापक के लिए आवदेन सकते हैं।  

दोस्तों उम्मीद है इस लेख “डी.एल.एड. क्या है ? D.El.Ed Kya Hai” के माध्यम से आपको के विषय में पूरी जानकारी प्राप्त हुई होगी। यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर कीजिये। धन्यवाद।

यह भी पढ़ें:

B.Ed. क्या है, B.Ed. कैसे करें? B.Ed. की पूरी जानकारी हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *