HOW TO IMPROVE SELF-CONFIDENCE IN HINDI
“10 तरीके जिनसे आप अपना आत्म-विश्वास बढ़ा सकते हैं”

आत्म विश्वास कैसे बढ़ाएं? (How to improve Self-Confidence?) : आत्मविश्वास सफलता की प्रथम सीढ़ी है। यदि आप जीवन में कुछ पाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपके पास आत्मविश्वास का होना अत्यंत आवश्यक है। इसके बिना आप किसी भी कार्य में सफलता प्राप्त नहीं कर सकते।

आत्मविश्वास के बिना आपकी जिंदगी बिलकुल वैसी ही है जैसे आपके पास मोबाइल फ़ोन तो है लेकिन उसके सिम कार्ड ही नहीं है। तो आप उस फ़ोन से बात कैसे कर पाएंगे। इसी प्रकार जिंदगी में सफल होने के लिए आपके अंदर आत्मविश्वास की जरुरत होती है। तभी आप पूरी लगन और ईमानदारी से उस कार्य में सफलता प्राप्त कर पाएंगे।

अब सवाल यह उठता है कि आत्मविश्वास कहाँ से आता है? या इसे कैसे बढ़ाया जा सकता है (How to increase self confidence?)। यहाँ आपको ऐसे 10 तरीके मिलेंगे, जिनको पढ़ने के बाद आपका आत्मविश्वास अवश्य ही कई गुना बढ़ जायेगा।

10 TIPS TO BUILD SELF-CONFIDENCE IN HINDI
आत्मविश्वास बढ़ाने के 10 तरीके

सही ड्रेस का चुनाव करें (Choose the right dress) :

हमारा ड्रेस सेन्स प्रथम दृष्टि में हमारे व्यक्तित्व को सबके सम्मुख रखता है। कपडे पहनना जितना आवश्यक है, उतना ही आवश्यक है कपडे पहनने का सलीका आना। हमें वह कपडे पहनने चाहिए जो हम पर अच्छे लगें। यदि हम ऐसे कपडे पहनेंगे जो दिखने में आवारा जैसे लगते हों, या मैले कुचले कपडे पहनेंगे तो लोग हमारे कपड़ों से हमारा व्यक्तित्व पहचानेंगे। हमें चाहे कितना भी ज्ञान हो पर यदि हमारे कपडे अच्छे  और साफ़ सुथरे नहीं होंगे, तो लोग हमारे बारे में अच्छी या सकारात्मक धारणा नहीं बनाएंगे जिससे हम हमेशा हीन भावना से भरे हुए रहेंगे। इसलिए यदि हम अच्छे और साफ़ सुथरे कपडे पहनेंगे तो लोग हमें सकारात्मक सोच के साथ मिलेंगे। इससे हमारा आत्मविश्वास बढ़ता है।

कभी भी रिस्क लेने से डरें (Never be afraid to take risk) :

आत्मविश्वास के साथ हर कार्य की शुरुआत करें। जिंदगी में कुछ पाना हो तो जोखिम लेना आवश्यक है। कुछ बड़ा पाना हो तो कभी भी जोखिम लेने से नहीं डरना चाहिए। इससे आपके अंदर आत्मविश्वास झलकता है। जिस व्यक्ति ने कभी कोई रिस्क नहीं लिया वह कभी भी कामयाब नहीं हो सकता। जो रिस्क लेता है वह कुछ पाता है और जो रिस्क लेने से डरता है वह पछताता ही रहता है।

हमेशा अपनी उपलब्धियों को याद करें (Always remember your achievements):

आपने अब तक जो भी प्राप्त किया है उसको हमेशा अपने मन में दोहराते रहे। इससे आपके आत्मविश्वास  में वृद्धि होगी। उन उपलब्धियों को याद करके आप आगे बढ़ने के लिए प्रेरित होंगे। आप अपने मन में यह अवश्य ठानेंगे की मुझे कुछ करना है और मैं कर सकता हूँ। ये उपलब्धियां आपके आत्मविश्वास  के स्तर को बढाती हैं।

WAYS TO BUILD SELF-CONFIDENCE IN HINDI

असफलताओं से घबराएं (Do not worry about failures):

दो प्रकार के लोग होते हैं; एक जो कोशिश करते हैं और कामयाब होते हैं भले ही शुरुआत में उनको थोड़ी असफलता ही हाथ क्यों न लगे। और दूसरे वो लोग होते हैं जो हमेशा यह  सोचकर घबरा जाते हैं की यदि मैं असफल हो गया तो क्या होगा? यह सोचकर वो कभी कोशिश ही नहीं करते क्योंकि उनमे आत्मविश्वास ही नहीं होता है। इसलिए कभी भी असफलताओं से नहीं घबराएं। इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा। एक मशहूर वाक्य हैमंज़िल मिल ही जाएगी एक दिन भटकते ही सही, गुमराह तो वो हैं जो घर से निकले ही नहीं”

यह भी पढ़ें: हमारी असफलता के प्रमुख कारण

अपने आपको समय  के साथ अपडेट करें (Update yourself over time):

समय के साथ अपने आपको हमेशा नयी चीजों से अपडेट रखें, इससे आप हमेशा आत्मविश्वास से भरे हुए रहेंगे। इस समय क्या चल रहा है, विभिन्न मुद्दे कौन-कौन से हैं, विभिन्न समाचार माध्यम से प्रमुख घटनाओं  एवं मुद्दों पर आपकी जानकारी होना आवश्यक है। इससे आप जब भी किसी के सम्मुख या समूह के बीच में  रहते हैं तो आपको नवीन मुद्दों की जानकारी होने के कारण आपके अंदर आत्मविश्वास भरा हुआ रहता है।

self-confidence-image

HOW TO IMPROVE SELF-CONFIDENCE IN HINDI

कुछ कुछ नया सीखने के लिए तत्पर रहे (Look forward to learning something new) :

आपने पहले क्या सीखा है इस बात  के साथ यह भी आवश्यक है की आप आज क्या नया सीखते हैं। हमेशा कुछ नया सीखते रहे। नया सीखने की कला के कारण अपने क्षेत्र में आपको नया अनुभव होगा। जो आपके आत्मविश्वास को बढ़ाने में आपकी सहायता करेगा।

बदलाव को स्वीकार करें (Accept Change):

वही इंसान कामयाब होता है जो बदलाव को स्वीकार करता है। समय के साथ-साथ चीजें बदलती हैं। बदलते समय के साथ अपने आपको ढालने वाला इंसान ही वक़्त की रफ़्तार के साथ कदमताल कर सकता है। आत्मविश्वास के लिए समय के बदलाव को स्वीकार करना आवश्यक है।

किसी भी कार्य को कल पर टालें (Do not postpone any work on tomorrow):

जब आपके मन में किसी कार्य को करने का ख्याल आये तो उसे तत्काल ही शुरू दें। यह न सोचें की फिर कर लेंगे या फिर कल कर लेंगे। कार्य को टालने से हमारे आत्मविश्वास में कमी दिखाई देती है। इसलिए जब किसी कार्य को करने की आवश्यकता हो तो उसे तत्काल कर दें। इससे आपके आत्मविश्वास भी बढ़ेगा।

SELF-CONFIDENCE IMPROVEMENT TIPS IN HINDI

सफल लोगों से सीखें (Learn from successful people):

सफल लोगों के जीवन से हमें उनकी जिंदगी को करीब से जानने का अवसर मिलता है। जितने भी सफल लोग हुए हैं यदि हम उनकी जीवनियों को पढ़ेंगे तो यह जानेंगे की उन लोगों ने अपनी जिंदगी में सफलता पाने के लिए क्या किया। अपनी असफलताओं से उन्होंने क्या सीखा और कैसे उनको सफलता में तब्दील किया। इससे आपको यह सीख मिलती है कि अपनी कमियों को कैसे दूर करना है और कैसे असफलताओं से सीखकर आगे बढ़ना है।

अपने शरीर को स्वस्थ रखें (Keep your body healthy):

एक स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का  निवास होता है। यदि आपका शरीर स्वस्थ नहीं रहेगा तो आप मानसिक रूप से मजबूत नहीं रह पाएंगे। इससे आपका आत्मविश्वास भी टूट जाता है। इसलिए आपको सर्वप्रथम अपने स्वास्थय का ध्यान रखना आवश्यक है। जब आप स्वस्थ रहेंगे तो आप सकारात्मक सोच रखते हैं। आप किसी भी कार्य को करने की सामर्थ्य रखते हैं। तभी आपके अंदर आत्मविश्वास का संचार होता है।

दोस्तों उम्मीद है आपको यह लेख आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं? (How to improve Self-Confidence?) आपको आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करेगा। यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो, तो इसे अन्य लोगों को भी शेयर कीजिये। धन्यवाद।

यह भी पढ़ें:

एक अच्छी शक्शियत कैसे बनाएं?

सफलता के रहस्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *