HOW TO STOP NEGATIVE THOUGHTS?

Table of Contents

नकारात्मक विचारों से कैसे बचें? (How to stop negative thoughts) : हमारे दिमाग में दो प्रकार के विचार (thoughts) आते हैं। एक तो वह जो हमको उत्साह से भर देते हैं। जो हमारे जीवन में नयी ऊर्जा का संचार करते हैं। एक वो जो हमको निराशा से भर देते हैं। वह विचार हमारी जिंदगी में तनाव लेकर आते हैं। जिससे हमारी जिंदगी नकारात्मकता (negativity) से भर जाती है। कई बार हम चाहकर भी ऐसे विचारों को अपने से दूर नहीं कर पाते हैं।

नकारात्मक विचार क्यों आते हैं? Why do negative thoughts come?

नकारात्मक विचारों (negative thoughts) के कारण मुख्य रूप से निम्न हैं (Reasons of negative thoughts):
1. बार बार असफल होना।
2. प्रेम में धोखा खाना।
3. परिवार द्वारा आपकी तुलना अन्य व्यक्तियों से करना
4. हर बात पर अफ़सोस करना।
5. भविष्य की चिंता में डूबे रहना।
6. अकेले रहना।
7. नकारात्मक प्रवृत्ति के लोगों के साथ रहना।
8. आत्मविश्वास की कमी होना।
9. कार्य आरम्भ करने से पहले ही परिणाम की चिंता करना
10. अपने आपको दूसरों से कम आंकना।

How-to-stop-negative-thought-hindi

Negative thinking meaning in hindi

नकारात्मक विचारों से कैसे बचें? How to avoid negative thoughts?

1. स्वयं पर विश्वास करें (Believe yourself):

सबसे पहले हमें जीने के लिए जिस चीज की आवश्यकता होती है वह है स्वयं पर विश्वास। जब तक हम अपने ऊपर विश्वास नहीं कर सकते। तब तक कभी भी जीवन में कामयाब नहीं हो सकते। हमें सबसे पहले अपने आप पर विश्वास होना चाहिए। जो भी कार्य शुरू करें, इस विश्वास के साथ करें की मैं इस कार्य को पूर्ण कर सकता हूँ। आत्मविश्वास हर कार्य की प्रथम सीढ़ी है। आत्मविश्वास के बिना कोई भी कार्य सफल नहीं हो सकता।

यह भी पढ़ें: आत्म विश्वास की ताकत

2. नकारात्मक लोगों से दूर रहें (Stay away from negative people) :

कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनको हर कार्य में निराशा ही दिखाई देती है। वह हर कार्य में कमियां ही निकालते हैं। उनको हर कार्य से बचने का बहाना चाहिए। किसी भी कार्य को करने से पहले ही वह उसे न करने का बहाना ढूंढते हैं। ऐसे लोगों से बचकर रहना चाहिए। क्योंकि वह हमको भी नकारात्मक कर देंगे। हम यदि कुछ अच्छा भी करने की कोशिश करेंगे तो वह उसमे ढेर सारी कमियां बताकर हमारा उत्साह भी ख़त्म कर देंगे।

Stay away from negative thinking in hindi

3. परिवार के साथ समय बिताएं (Spend time with family):

अपने परिवार के साथ समय बिताएं। जब हम अपने परिवार के सदस्यों के साथ समय बिताते हैं तो हमें ख़ुशी का अनुभव होता है। एक दूसरे के साथ अपने सुख दुःख शेयर करने का मौका मिलता है। जिससे हम सकारात्मक ऊर्जा का अनुभव करते हैं। अकेले रहने वाला व्यक्ति अक्सर एकाकीपन का शिकार हो जाता है। जिससे उसके मन में नकारात्मकता घर कर जाती है।

4. अपने लिए भी समय निकालें (Take time for yourself):

वर्तमान में हर इंसान इतना व्यस्त है कि किसी के पास अपने लिए भी बिलकुल भी समय नहीं है। हमको चाहिए की हम अपने लिए भी समय निकालें। हमें जो अच्छा लगता है उसके बारे में सोचें। अपनी रूचि के विषय, खेल, गाने, सिनेमा को भी अपनी जिंदगी में स्थान देना चाहिए। इससे हमें सकारात्मक ऊर्जा मिलेगी .

यह भी पढ़ें: समय कैसे बचाएँ?

How to get rid of negative thoughts?

5. ईश्वर में विश्वास रखें (Believe in god):

आस्था हमेशा सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करती है। जब हम ईश्वर का ध्यान करते हैं तो हमें सकारात्मक ऊर्जा का अनुभव होता है। जब भी हम ईश्वर को अपने नजदीक पाते हैं, नकारात्मकता हमसे दूर रहती है।

6. सकारात्मक लोगों के साथ समय बिताएं (Spend time with positive people):

ऐसे लोगों के साथ समय बिताएं जो जीने का हौसला देते हों। जो खुद भी खुश रहते हों और औरों को भी खुश रखने की कोशिश करते हों। जो हर कार्य को उत्साह के साथ करते हों। ऐसे लोगों के साथ समय बिताने पर आपके अंदर सकारात्मकता का संचार होगा और आप नकारात्मकता से दूर रहेंगे।

7. मनोरंजन के लिए भी समय निकालें (Take time for fun):

हमारी जिंदगी में मनोरंजन (Entertainment) का होना भी आवश्यक है। इससे हमारा दिमाग तारो-ताजा महसूस करता है। इससे हम नकारात्मकता से दूर रहते हैं।

8. व्यायाम करें (Do exercise):

व्यायाम का हमारी जिंदगी में बहुत महत्वपूर्ण स्थान है। व्यायाम से हम स्वस्थ रहते हैं। एक स्वस्थ शरीर में ही एक स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है। प्रातःकाल जल्दी उठकर व्यायाम करें। सुबह की सैर (Morning walk) हमको ताजगी प्रदान करती है एवं सुबह की ठंडी-ठंडी हवा हमारे शरीर को मजबूती प्रदान करती है।

Stop Negative thinking in hindi

यह भी पढ़ें: सुबह जल्दी उठने के क्या फायदे हैं?

नकारात्मक विचारों से कैसे बचें? (How to stop negative thoughts in hindi)

9. योग करें (Do yoga):

योग के द्वारा हम अपने मन को एकाग्र कर सकते हैं। योग हमारे चित्त को शांत करता है। इससे हमें नकारात्मकता को दूर करने में मदद मिलती है। योग के माध्यम से हम अपने विचारों पर नियंत्रण करना सीख सकते हैं।

10. अपने ग्रुप में सबको हँसाने की कोशिश करें (Try to make laugh everyone in your group):

अपने आस पास खुशनुमा माहौल विकसित करने का कार्य करना चाहिए। खुद भी हंसें और औरों को भी हंसाएं। इससे नकारात्मक विचार हमसे दूर रहेंगे।

यह भी पढ़ें: जीवन में खुश कैसे रहें?

Negative thoughts and feelings in hindi

How-to-stay-away-from-negativity

11. असफलता से डरना छोड़ दें (Quit fearing failure):

कुछ व्यक्ति सिर्फ इस वजह से नकारात्मक हो जाते हैं की यदि वह असफल हो गए तो। असफलता का डर उन्हें नकारात्मकता की ओर धकेलता है। यह सोचना बंद करें की हम असफल होंगे या सफल। मेहनत से अपना कार्य करें। इस उम्मीद के साथ कार्य करें की हम अवश्य सफल होंगे।

यह भी पढ़ें: हमारी असफलता के प्रमुख कारण

12. पर्याप्त नींद लें (Get enough sleep):

नींद का हमारे स्वस्थ्य पर बहुत गहरा प्रभाव है। यदि हमारी नींद पूरी नहीं होगी तो हम परेशान हो जायेंगे, चिड़चिड़े (Irritable) हो जायेंगे। ऐसी स्थिति में नकारात्मकता हमारे दिमाग में घर कर जाती है। इसलिए पूरी नींद लें जिससे की पॉजिटिव विचार (positive thoughts) ही हमारे मन ने आएं।

How to stay positive ?

13. अपना कोई लक्ष्य बनाइये (Make your goal):

जिन व्यक्तियों के पास कोई लक्ष्य (goal) नहीं होता वह अक्सर नकारात्मकता के शिकार होते हैं। क्योंकि वह हर समय अपनी नाकामयाबी का रोना रोते रहते हैं। अपना लक्ष्य बनाना चाहिए। ताकि हम हर समय अपने लक्ष्य पर अपना ध्यान केंद्रित कर सकें। इस प्रकार हम सकारात्मकता की और अग्रसर होंगे।

14. प्रेरणादायक विचार एवं पुस्तकें पढ़ें (Read Inspirational Thoughts and Books):

यदि हमें प्रेरित रहना है एवं सकारात्मक बनना है तो हमें महापुरुषों के प्रेरणादायक विचार एवं प्रेरणादायक पुस्तकें भी पढ़नी चाहिए। जिससे सकारात्मक बनने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें: हमारे जीवन में प्रेरणा का महत्व

15. अधिक न सोचें (Don’t think too much):

जो इंसान अधिक सोचते हैं, वह भी नकारात्मक विचारों को आमंत्रण देते हैं। क्योंकि वह किसी भी विषय के बारे में इतना अधिक सोच लेते हैं और खुद ही प्रश्न बनाते हैं और खुद ही उनके जवाब तय कर लेते हैं। इससे उनमें नकारात्मक भावना का विकास होता है। उन्हें भविष्य की चिंता इतनी अधिक होती है की वह आज मेहनत करने के स्थान पर सारा समय चिंता में ही व्यतीत कर देते हैं।

दोस्तों, उम्मीद है इस लेख “नकारात्मक विचारों से कैसे बचें? (How to stop negative thoughts)” से आपको नकारात्मकता और उसे दूर करने के उपाय के विषय में पूरी जानकारी मिली होगी। यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अन्य लोगों तक भी शेयर कीजिये। जिससे की अधिक से अधिक व्यक्तियों तक यह लेख पहुंचे। इस लेख को पढ़ने के लिए आप सभी का ह्रदय से धन्यवाद।

यह भी पढ़ें (Also read):

 स्वामी विवेकानंद जी के अनमोल विचार

डॉo ए. पी. जे. अब्दुल कलाम के अनमोल विचार

शिव खेड़ा के अनमोल विचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *