Inspirational Hindi Poem for Youth

युवाओं के लिए प्रेरणादायक हिंदी कविता (Inspirational Hindi Poem for Youth) ” आओ फिर से दिया जलाएँ ” आज के समय में हमको जीने की एक नयी उम्मीद प्रदान करती है। यह कविता अटल बिहारी वाजपेयी जी द्वारा रचित “मेरी इक्यावन कवितायेँ” से ली गयी है;-

inspirational hindi poem

आओ फिर से दिया जलाएँ

भरी दुपहरी में अँधियारा,
सूरज परछाईं से हारा,
अंतरतम का नेह निचोड़ें,
बुझी हुई बाती सुलगाएँ।
आओ फिर से दिया जलाएँ।

हम पड़ाव को समझे मंज़िल,
लक्ष्य हुआ आँखों से ओझल,
वर्तमान के मोह जाल में
आने वाला कल न भुलाएँ
आओ फिर से दिया जलाएँ।

आहुति बाकी यज्ञ अधूरा,
अपनों के विघ्नों ने घेरा,
अंतिम जय का वज्र बनाने,
नव दधीचि हड्डियां गलायें
आओ फिर से दिया जलाएँ।

-अटल बिहारी वाजपेयी
भारत रत्न, पूर्व प्रधान मंत्री भारत सरकार

अटल बिहारी वाजपेयी की यह कविता भी पढ़ें : कदम मिलाकर चलना होगा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *