What is the real meaning of Education?

शिक्षा का वास्तविक अर्थ क्या है ? (The real meaning of Education): शिक्षा केवल एक शब्द नहीं है यह अपने आप में पूरा शब्दकोष समाये हुए है। अक्सर लोग केवल कक्षाओं को पास करने को ही शिक्षा का नाम देते हैं। लेकिन शिक्षा केवल स्कूली पाठ्यक्रम तक ही सीमित नहीं है। यह जीवन पर्यन्त चलने वाली एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे मनुष्य हर क्षण कुछ नया सीखता है। स्कूल में पढ़ना शिक्षा का एक भाग अवश्य है किन्तु वह पूर्ण शिक्षा नहीं है। यदि यह कहा जाये की किसी भी व्यक्ति की शिक्षा कभी पूर्ण नहीं होती तो उसमे कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।

हम सब कुछ सीख जाएं ऐसा संभव नहीं है। हम केवल उतना ही सीख पाते हैं जितना हम अपने उद्देश्य के लिए आवश्यक समझते हैं।

शिक्षा का अर्थ वास्तविक रूप से बहुत व्यापक है। स्कूल, कॉलेज में हम जो ज्ञान प्राप्त करते हैं, वह हमारे व्यक्तित्व के विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है। किन्तु उस ज्ञान का प्रयोग कैसे और कहाँ करना है। यह भी उतना ही महत्वपूर्ण है जितना की ज्ञान प्राप्त करना।

यदि किसी व्यक्ति के पास ढेर सारी डिग्रियां हैं परन्तु वह न किसी का सम्मान करना जानता है, न अपनी जिम्मेदारी समझता है, न इंसानियत को ही समझता है और न उस व्यक्ति में कोई तहजीब है तो उस व्यक्ति को हम शिक्षित नहीं कह सकते हैं। इसके विपरीत यदि कोई व्यक्ति बहुत पढ़ा लिखा नहीं है किन्तु व्यहार कुशल है और इंसानियत को समझने वाला, सामाजिक मूल्यों को समझने वाला है तथा जो यह जानता है कि क्या अच्छा है  तो वह व्यक्ति अधिक शिक्षित है उस व्यक्ति के मुकाबले जो डिग्री लेकर तो घूम रहा है किन्तु उसका व्यावहारिक ज्ञान शुन्य है।

The real meaning of Education

What is the real meaning of being educated?

विपरीत हालातों में भी संतुलन बनाये रखना:

शिक्षा हमें यह सिखाती है कि किस प्रकार हम विभिन परिस्थितियों में अपना संतुलन बनाये रखते हैं। जीवन में समय समय पर मुश्किलों से घिरने पर साहस और सयम का परिचय देना पड़ता है। इन हालातों पर हम क्या फैसले लेते हैं तथा उन फैसलों को लेने  की हमारी क्षमता कैसी है यह हमें उस दौरान ही  पता चलता है। वहां पर हमारी शिक्षा की अग्नि परीक्षा होती है।

धन की अपेक्षा इंसानियत को महत्त्व देना:

धन का महत्त्व इंसानियत के सम्मुख कुछ  नहीं है। सच्चे अर्थों में शिक्षा हमेशा मानवीय मूल्यों को रेखांकित करती है। शिक्षित होकर कामयाब होने पर बहुत से लोग अक्सर यह भूल जाते हैं कि  अन्य लोगों से  किस तरह पेश आना चाहिए। धन के अहंकार में अक्सर वह इंसानियत को भूल जाते हैं। शिक्षा हमेशा हमें विनम्र होना सिखाती है अहंकारी नहीं।

सबका सम्मान करना:

शिक्षित होने का यह अर्थ नहीं है कि हम दूसरों का सम्मान करना भूल जाएं। हमें यदि शिक्षा प्राप्त है तो हमारा यह दायित्व बनता है कि हम सभी का सम्मान करें। सबके विचारों को महत्त्व दें।

Meaning of Education Quotes

अपनी जिम्मेदारियों को समझना:

एक शिक्षित नागरिक होने के नाते हमारा अपने समाज  के प्रति कुछ दायित्व बनता है। हमारे कुछ कर्तव्य हैं जो हमको समझने होंगे। अपने पर्यावरण  को स्वच्छ रखना हमारी मुख्य जिम्मेदारी है। सामाजिक संपत्ति की सुरक्षा करना, सार्वजनिक स्थलों को स्वच्छ बनाये रखना, राष्ट्र के विकास में अपना योगदान देना एक शिक्षित व्यक्ति का कर्त्तव्य है।

 रिश्तों में मधुरता बनाये रखना :

शिक्षित व्यक्ति से अपने सामाजिक संबंधों के प्रति सजग रहने की उम्मीद की जाती है। वह सभी से मधुर सम्बन्ध  रखते हैं। यदि हमने बहुत पढ़ाई की हुई है और हम सभी से झगड़ा कर के रखते हैं या रिश्तों में कटुता रखते हैं तो हमारी  ऐसी पढ़ाई का क्या फायदा ? कुछ लोग रिश्तों को केवल यह सोचकर भी निभाते हैं कि न जाने किससे कब क्या काम पड़  जाये। ऐसे लोग सिर्फ मतलब के लिए रिश्ते रखते हैं। शिक्षित समाज का अर्थ है कि अपने रिश्तों में परस्पर प्यार और सम्मान बरक़रार रहे।

The real meaning of Education

हमेशा अपने से बड़ों की इज्जत करना:

शिक्षा हमें अपने  से बड़ों की इज्जत करना सिखाती है। यदि हम अपनों से बड़ों का सम्मान ही नहीं कर सकते तो ऐसी शिक्षा का क्या लाभ। सच्चे अर्थों में शिक्षा का यह भी एक अर्थ है कि हम हमारे बुजुर्गों की देखभाल करें। उनका ख्याल करें, उनके दुःख में उनके सहभागी बनें।

महिलाओं का सम्मान करना:

महिलाओं का सम्मान करना भी शिक्षित व्यक्ति का एक प्रमुख कर्त्तव्य है। शिक्षा तभी कारगर है जब हम अपने समाज में महिलाओं को सम्मानित स्थान दें। आज भी हमारे समाज में बेटियां दहेज़ के कारन प्रताड़ित होती हैं। उनको घरेलु हिंसा का सामना करना पड़ता है। शिक्षा तभी अपने उद्देश्य में सफल होगी जब हम बेटियों का सम्मान करेंगे। कोई भी बेटी दहेज़ के कारन परेशान न हो। कोई भी बेटी  घरेलू हिंसा का शिकार न हो।

ज्ञान का अहंकार न होना:

शिक्षित होने का यह अर्थ नहीं है कि हमने जो पढ़ा है या जो सीखा है, उसका अहंकार करें। कुछ लोग अपने शिक्षित होने का इतना अहंकार  करते हैं कि वे अपने सामने अपने से कम पढ़े लिखे व्यक्तियों को कुछ समझते नहीं। एक  सच्चे शिक्षित व्यक्ति से यह आशा की जाती है उसे अपने ज्ञान का अहंकार न हो।

समाज के वंचित वर्ग की सहायता करना:

यदि हम शिक्षित हैं तो यह हमारा कर्तव्य है कि  हम समाज का जो वर्ग शिक्षा से वंचित है उनको शिक्षा प्राप्त करने में सहयोग करना। जो वर्ग विकास की मुख्यधारा से वंचित है उसको मुख्यधारा में लाना।

Meaning of Education Quotes

दोस्तों उम्मीद है की यह लेख “शिक्षा का वास्तविक अर्थ क्या है ? (The real meaning of Education)” आपको अच्छा होगा। इस लेख को अपने मित्रों को भी शेयर कीजिये जिससे की वह भी शिक्षा के महत्त्व को समझ सकें और देश एवं समाज के विकास में मुख्य भूमिका निभा सकें।

 

यह भी पढ़ें:

एक अच्छी शक्शियत कैसे बनाएं?

जीवन में खुश कैसे रहें?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *